पाक क्रिकेट बोर्ड की आईसीसी से अपील....भारत लिखित में दे पाकिस्तानी टीम का वीजा नहीं रोकेगा - Bichhu.com

पाक क्रिकेट बोर्ड की आईसीसी से अपील….भारत लिखित में दे पाकिस्तानी टीम का वीजा नहीं रोकेगा

Pak Cricket Board appeals to ICC .... India will not stop giving Pakistani team visa in writing

मुंबई (बिच्छू डॉट कॉम)। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने आईसीसी से कहा है कि वह भारतीय क्रिकेट बोर्ड से साफ बात करे कि आने वाले सालों में भारत में होने वाले विश्व कप में खेलने के लिए पाकिस्तानी टीम को भारत आने के लिए वीजा में किसी तरह की कोई परेशानी नहीं होगी। 

दरअसल भारत में 2021 और 2023 में दो दो विश्व कप का आयोजन होना है और भारत पाकिस्तान के बिगड़ते रिश्तों के चलते पाकिस्तानी टीम को भारत में आने और खेलने में बेहद परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। इसीलिए पीसीबी भारत में दो विश्व कप खेलने के लिए बीसीसीआई से लिखित आश्वासन चाहता है। 

पीसीबी ने आईसीसी से कहा है कि वह बीसीसीआई से लिखित आश्वासन ले कि उसकी टीम को भारत में 2021 टी-20 विश्व कप और 2023 में होने वाले 50 ओवर के विश्व कप में खेलने के लिए वीजा हासिल करने में किसी समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा।

पीसीबी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी वसीम खान ने ‘यूट्यूब क्रिकेट बाज’ चैनल को दिए एक साक्षात्कार में कहा, ‘हम इस तथ्य को भी देख रहे हैं कि भारत में 2021 और 2023 में आईसीसी विश्व कप की मेजबानी की जानी है और हमने पहले ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद से कहा है कि हमें बीसीसीआई से लिखित आश्वासन दिलाए कि हमें वीजा हासिल करने और भारत में खेलने की मंजूरी के संबंध में किसी समस्या का सामना नहीं करना होगा।

एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार पीसीबी ने आईसीसी से कहा है कि वह बीसीसीआई को कहे कि वह अगले कुछ महीनों में अपनी सरकार से आश्वासन हासिल कर ले। अधिकारी ने यह भी पुष्टि की कि आईसीसी कार्यकारी बोर्ड अपनी अगली बैठक में फैसला करेगा कि अगले विश्व टी-20 कप की मेजबानी आस्ट्रेलिया द्वारा की जाएगी या भारत द्वारा।

खान ने कहा कि इस साल आस्ट्रेलिया में विश्व टी-20 आयोजित करने की संभावना नहीं है। उन्होंने कहा, ‘अब सबसे बड़ा सवाल है कि जब 2021 में विश्व टी-20 कप आयोजित किया जायेगा तो इसकी मेजबानी आस्ट्रेलिया द्वारा की जाएगी या फिर भारत इसकी मेजबानी करेगा क्योंकि भारत के पास पहले ही 2021 में विश्व टी-20 कप के मेजबानी के अधिकार हैं।’

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *